Blog

मासिक धर्म की ऐंठन को प्रबंधित करने में आयुर्वेद का महत्व

Pinterest LinkedIn Tumblr

सार: यह केस स्टडी पीरियड्स (मासिक धर्म) के दौरान दर्द के उपचार में त्रैलोक्य विजया वटी में उपस्थित भांग के उपयोग का आकलन करती है जिसे चिकित्सकीय रूप से डिसमेनोरिया या कषट आर्तव कहा जाता है।

मासिक धर्म में ऐंठन या दर्द प्रोस्टाग्लैंडिन्स नामक हार्मोन के कारण होता है जो गर्भाशय की सतह से निकलता है, यह हार्मोन शोथ का कारण भी बनता है जिससे दर्द बढ़ता है। हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि महिला प्रजनन प्रणाली में कैनबिनोइड रिसेप्टर्स हैं और इसलिए कैनबिस मासिक धर्म के दर्द के उपचार में प्रभावी साबित हो सकता है, कैनबिस में शोथ को कम करने का गुण भी हैं।

यह एक 21 साल की महिला का मामला है, जिसे दोनो गुर्दे की पथरी के साथ पॉलीसिस्टिक ऑवेरियन सिंड्रोम (पीसीओएस) की शिकायत थी और त्रैलोक्य विजया वटी के उपयोग से सिर्फ 7 दिनों के उपचार से ही दर्द में राहत मिल गई।

आयुर्वेद का परिप्रेक्ष्य

आयुर्वेद के अनुसार, मासिक धर्म के दौरान, अपान वायु जो वात दोष का एक प्रकार है और ऊर्जा के नीचे श्रोणि की ओर प्रवाह के लिए जिम्मेदार होता है, वह गर्भाशय की परत को साफ करने के लिए कार्य करता है। बढा हुआ वात दोष शूल(रज शूल) का कारण बनता है।

विजया में तिक्त रस, उषण वीर्य, लघु तीक्ष्ण गुण और कटु विपाक है। इसलिए यह वात दोष को शांत करता है और वातज शूल के उपचार में मदद करता है। आयुर्वेद रसतरंगिणी ने विजया के 29 औषधीय उपयोग बताये हैं जिसमें रज शूल भी शामिल है।

परिचय

माना जाता है कि कैनबिस का विभिन्न प्रकार की बीमारियों के लिए चिकित्सीय उपयोग किया जाता है, जिसमें लम्बे समय तक होने वाले दर्द, सिरदर्द, मिर्गी, स्केलेरोसिस के लक्षण और जठरांत्र संबंधी विकार शामिल हैं।भांग के मासिक धर्म के दर्द को दूर करने की क्षमता के बारे में कम ही बताया गया है, लेकिन इसके प्रयोग को बढ़ावा दिया गया है।

भांग के सेवन और उपयोग की विविधता इसकी लोकप्रियता बढ़ाने में मदद कर सकती है। आदर्श रूप से, जितना अधिक लोग पीरियड के दर्द के लिए भांग का उपयोग करेंगे, शोधकर्ता इसके जोखिम और लाभों के बारे में अधिक अनुसंधान करेंगे जिससे हम सभी इस अद्भुत जड़ी-बूटी के बारे में जान सके। इस संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता कि कैनबिस दुनिया भर में डिसमेनोरिया के लिए उपलब्ध एकमात्र पसंदीदा दवा हो सकती है।

केस रिपोर्ट 

रोगी का वर्णन

इस इक्कीस वर्षीय लड़की को द्विपक्षीय गुर्दे की पथरी के साथ पॉलीसिस्टिक ऑवेरियन सिंड्रोम (पीसीओएस) की शिकायत थी।

इतिहास इतिवृत्त

वह डिसमेनोरिया (अत्यधिक दर्दनाक मासिक धर्म) और मेट्रोरेजिया (अत्यधिक रक्तस्राव) से भी पीड़ित थी। इसके अलावा उसे चिडचिडेपन और एंग्जायटी की शिकायत थी जिससे उसका स्वास्थ्य उसके माता-पिता के लिए चिंता का विषय बन गया और सीधा उसकी पढ़ाई पर असर पड़ा। उसका मासिक धर्म महीने में सात दिन तक होता था और हर महीने ये पूरा सप्ताह उसका दर्द में चला जाता था।

सोनोग्राफी के परिणाम: उसके पेट की अल्ट्रासोनोग्राफी में उसके दोनो अंडाशय में रक्तस्रावी सिस्ट का पता चला।

उपचार योजना / उपयोग की जाने वाली दवाएं – त्रैलोक्य विजया वटी

दर्द को दूर करने और सिस्ट के इलाज करने के लिए, उसने अगस्त 2020 में, ‘द आयुर्वेदिक थायराइड क्लिनिक’ पुणे में अपना इलाज शुरू किया। उसके दर्द को दूर करने के लिए, उसे अक्टूबर 2020 के महीने में ‘त्रैलोक्य विजया वटी’  की एक टैबलेट दिन में दो बार दी गई।

उपचार योजना के अपेक्षित परिणाम

तुरंत नहीं लेकिन धीरे-धीरे उम्मीद की जा रही थी कि रोगी को उसके दर्द से राहत मिलेगी और वह अपनी दैनिक गतिविधि को आसानी से कर पायेगी।

वास्तविक परिणाम

त्रैलोक्य विजया वटी देने के एक सप्ताह के भीतर, वह अपने मासिक धर्म में ऐंठन और दर्द से राहत महसूस करने लगी थी, जैसा पहले कभी नहीं हुआ था। हालांकि रोगी अभी भी पीसीओएस के लिए दवा पर है, लेकिन उसकी मुख्य चिंता असहनीय मासिक धर्म का दर्द था। आयुर्वेदिक दर्द निवारक त्रैलोक्य विजया वटी के उपयोग से उसका दर्द काफी कम हो गया, और उसे आगे के उपचार के लिए प्रेरणा मिली। उसे विश्वास हो गया था कि त्रैलोक्य विजया वटी से उसे जो लाभ मिला, वह मेफ्टाल-स्पास से भी नहीं मिला।

विचार-विमर्श

उपचार वात दोष और दर्द प्रबंधन के आधार पर तय किया गया था। विजया में एंटी-इंफ्लेमेटरी या शोथहर गुण होते हैं और यह एक प्रभावी वातघ्न औषधि भी है। यह धीरे-धीरे लेकिन प्रभावी ढंग से दर्द को कम करने में मदद करता है।

निष्कर्षमाना जाता है कि कैनबिस का बीमारियों और दर्द जिसमे मासिक धर्म में होने वाला दर्द भी शामिल है, के लिए चिकित्सीय उपयोग होता है। शोध अभी भी कम ही हुए हैं, लेकिन कुछ अध्ययन मासिक धर्म के दर्द से राहत के लिए भांग की प्रभावशीलता को दर्शाते हैं।

अध्ययन: डॉ. विक्रांत पाटिल

हेम्पस्ट्रीट द्वारा प्रकाशित

Write A Comment